ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
केरल टूरिज्म ने दो राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार प्राप्त किए
September 27, 2019 • Snigdha Verma


 केरल की फिल्म ''कम आउट एंड प्ले'' को सर्वश्रेष्ठ पर्यटन फिल्म घोषित किया गया
 पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र में केरल की निजी कंपनियों को पांच पुरस्कार प्राप्त हुए। 
नई दिल्ली : पाटा स्वर्ण पुरस्कार हासिल करने के कुछ दिनों के बाद ही केरल टूरिज्म ने  आज गौरव का एक और अध्याय रचते हुए वर्श 2017-18 के लिए दो प्रतिश्ठित राश्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार हासिल कर लिया। केरल टूरिज्म को आज राश्ट्रीय राजधानी में आयोजित एक भव्य समारोह में ''कम आउट एंड प्ले'' फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ पर्यटन फिल्म का खिताब मिला जबकि ''सर्वश्रेष्ठ राज्य / केन्द्र षासित प्रदेष: पर्यटन का व्यापक विकास - शेष भारत' की श्रेणी में तीसरा पुरस्कार प्राप्त हुआ। ।
केरल के यात्रा और आतिथ्य उद्योग में होटल एवं टूर संचालक के तौर पर काम करने वाली निजी संस्थाओं एवं कंपनियों ने राज्य को प्राप्त पुरस्कारों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि करते हुए पांच और पुरस्कार प्राप्त किए। इस तरह से कुल मिलाकर केरल टूरिज्म को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित इस समारोह में सात पुरस्कार प्राप्त हुए। 
केरल के पर्यटन मंत्री श्री कडकम्पल्ली सुरेंद्रन और पर्यटन सचिव श्रीमती रानी जॉर्ज ने केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद सिंह पटेल तथा विश्व पर्यटन संगठन (यूएनडब्ल्यूटीओ) के महासचिव श्री ज़ुरब पोलोलिकाशिविली से ये पुरस्कार प्राप्त किए।  
''कम आउट एंड प्ले' नामक फिल्म एक दूसरे से जुड़ने तथा प्रकृति के साथ रिष्ता कायम करने के लिए शहरों की रोजमर्रे की आपाधापी तथा गैजेटों की अलगाव पैदा करने वाली दुनिया से बाहर निकलने के लिए भारत की ओर से एक निमंत्रण है। इस फिल्म के जरिए ट्रेकिंग, आयुर्वेदिक मालिश, रिवर राफिं्टग, योग पाठ, मसालों के बागानों की सैर करने, केरल के व्यंजनों की मूल बातें सीखने, नारियल के पेड़ पर चढ़ने, हाउसबोट से नौकायन करने जैसी कई तरह की गतिविधियों के जरिए प्रकृति को फिर से देखने के लिए कई प्रकार के विकल्प प्रदान किये गये हंै। 
श्री कडकम्पल्ली सुरेन्द्रन ने कहा, ''केरल की अर्थव्यवस्था के मुख्य आधार बन चुके पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र को मजबूत करने के हमारे निरंतर प्रयासों की स्वागतमय स्वीकृति है। यह देष के पर्यटन बाजार के एक प्रतिष्ठित गंतव्य के रूप में राज्य की प्रोफाइल को और अधिक मजबूत करेगा।''
उन्होंने कहा, “हमारी पर्यटन नीति की एक परिभाषित विशेषता सरकार और निजी कंपनियों के बीच घनिष्ठ संबंध है। हमने राज्य में पर्यटन के विकास के लिए पीपीपी मोड को समुचित महत्व दिया है। मुझे बेहद खुशी है कि केरल के पांच निजी संस्थानों ने 2017-18 के राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कारों में भाग लिया।''

 

 


श्रीमती जॉर्ज ने कहा कि ये अत्यधिक प्रशंसित पुरस्कार केरल पर्यटन द्वारा शुरू किए गए अभिनव उपायों और अभियानों का एक मजबूत सत्यापन हैं, और ये राज्य में पर्यटन व्यवसाय को बड़े पैमाने पर सक्रिय करने में मदद करेंगे।''
उन्होंने कहा, “यह हमें राज्य की पर्यटन क्षमता को बढ़ाने के लिए अभिनव उपायों को विकसित करने के लिए प्रेरित करेगा।“ 
केरल की जिन निजी कंपनियों ने पुरस्कार हासिल किए हैं उनमें इंटरनेषनल पिलग्रिमेज रिव्योल्युषन प्राइवेट लिमिटेड भी षामिल है जिसने सर्वश्रेश्ठ इनबाउंड टूर ऑपरेटर / ट्रैवल एजेंट (श्रेणी वी) के लिए पहला पुरस्कार हासिल किया जबकि कल्प्सो एडवेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड ने बेस्ट एडवेंचर टूर ऑपरेटर्स (इनबाउंड) के लिए पुरस्कार जीता।
रोज गार्डन होमस्टे, करदीपपारा (मुन्नार) को भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा अनुमोदित बेस्ट इनक्रेडिबल इंडिया ब्रेड एंड ब्रेकफास्ट प्रतिष्ठान पुरस्कार (स्वर्ण और रजत श्रेणी) दिया गया जबकि कोकोनट क्रीक फार्म एंड होमस्टे, कुमारकोम ने राज्य सरकार / केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन द्वारा अनुमोदित 'सर्वश्रेष्ठ बे्रड एंड ब्रेकफास्ट प्रतिष्ठान' पुरस्कार हासिल करने का गौरव प्राप्त किया। 
केरल की निजी कंपनियों को मिले पांचवां पुरस्कार मानतलीराम आयुर्वेदिक अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र प्राइवेट लिमिटेड, तिरुवनंतपुरम को मिला जिसने 'बेस्ट वेलनेस सेंटर' की श्रेणी में पुरस्कार प्राप्त किया। 
19 सितंबर को, केरल पर्यटन को तीन पाटा स्वर्ण पुरस्कार मिले थे। ये पुरस्कार पाटा ट्रैवल मार्ट 2019 के दौरान नूर-सुल्तान (अस्ताना), कजाकिस्तान में आयोजित शानदार समारोह में मिले।