ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
जयपुर में होगा वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए फिल्म फेस्टीवल जयपुर में ही रिकार्ड बनेगा और जयपुर में ही रिकार्ड टूटेगा भी
July 24, 2019 • Snigdha Verma

जयपु।अग़र आपके पास किसी भी साल में बनाई कोई भी शॉर्ट फिल्म हो तो दुनिया से कोई भी फ़िल्मकार इस विश्व रिकॉर्ड का हिस्सा बन सकता हैं। दरअसल जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ट्रस्ट “वर्ल्ड्स लारजेस्ट एंड मोस्ट सिक्योर फिल्म लाइब्रेरी और इंटरनेशनल सिनेमा सेंटर” के लिए विश्व रिकॉर्ड बनाने जा रहा है, और खुश खबरी यह है कि आप भी इसके भागीदार बन सकते हैं। मजेदार बात ये है की जिफ ट्रस्ट साल दर साल अपने ही रिकार्ड को तोड़ेगा भी। इस फेस्टीवल का नाम है – “वर्ल्ड रीकार्ड फिल्म फेस्टीवल”

किस साल में बनी फिल्म सब्मिट की जा सकती है

पूरे विश्व से कोई भी फिल्म निर्माता और निर्देशक किसी भी वर्ष [जैसे 1800,1900, 1940, 1970, 2000, 2019] में बनाई गई फिल्म के साथ इस रिकॉर्ड का हिस्सा बन सकते हैं।

क्या है नियम

किसी भी साल से लेकर वर्ष 2020 के फरवरी माह तक, किसी भी देश में बनी शॉर्ट फिक्शन, शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री, शॉर्ट एनिमेशन, वेब सीरीज़ या शॉर्ट मोबाइल फिल्म [ जो 30 सेकंड से 30 मिनट तक लम्बी हो] इस फेस्टिवल में भेजी जा सकती है।

फिल्म किसी भी विषय पर आधारित हो सकती है।

फिल्म में किसी भी तरह के आपत्तिजनक संवाद और सीन नहीं होने चाहिए जिसे परिवार और बचे एक साथ बैठकर नहीं देख सकते हों।

इस तरह से फिल्म सब्मिटर ही फिल्म चयनकर्ता के काम करेंगे। 

भेजी गई सारी फिल्मों का होगा प्रदर्शन

“वर्ल्ड रिकार्ड फिल्म फेस्टीवल” के फाउन्डर हनु रोज ने बताया की फिल्मकारों के लिए खुश खबरी यह है कि आपकी फिल्म, सब्मिट करने के बाद, बिना किसी चयन प्रक्रिया से गुज़रे, स्क्रीनिंग के लिए भेज दी जाएगी। यदी फिल्म में आपत्तिजनक संवाद और सीन नहीं हो और फिल्म 30 मिनट से कम की हो।

हर साल बढ़ेगा दायरा

फेस्टिवल की भव्यता का इसी से अऩुमान लगाया जा सकता है कि 2020 में 23 से 30 मार्च तक कुल 2100 फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी। आगामी वर्षों में फिल्मों की संख्या बढ़ती जाएगी। 2021 में 5100 फिल्में, 2022 में 11000 फिल्में, 2023 में 21000 फिल्में, 2024 में 51000 फिल्में,2025 में 100000 फिल्में दिखाई जाएंगी। (वेन्यू आवश्यकता अनुसार जयपुर से बाहर भी रखे जा सकते हैं और फिल्म स्क्रीनिंग या फिल्म शॉज दोनों में से कोई एक पढ़ा जावे।) 

फिल्म स्क्रीनिंग के साथ ही जिफ हर साल बड़ी संख्या में दीपक प्रज्वलित करने की परम्परा का भी निर्वहन करता रहा है। इस क्रम में दीपक जलाये जाएँगे। 2016 में 1100 और 2019 में 2100 दीपक जलाए जा चुके हैं। 2020 में 5100 दीपक जलाए जाएँगे।

साथ ही फिल्म निर्माता अपनी फिल्मों के पोस्टर्स भी इस फेस्टिवल में सब्मिट कर सकते हैं। सभी पोस्टर्स को लाइब्रेरी और सिनेमा सेंटर में 26 अगस्त 2021 को प्रदर्शित किया जाएगा।  

भेजी गई फिल्मों में टॉप पर रहीं 50 फिल्मों को एक लाख रुपये नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। फिल्म भेजने के लिए अर्लीबर्ड डेडलाईन 30 अक्ट्बर 2019 है। फिल्म सब्मिशन के लिए जिफ,जयपुर फिल्म मार्केट और लाइब्रेरी की वेबसाईट विजिट की जा सकती है।