ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
जिले के तीनों प्राधिकरणों के खिलाफ भाकियू उतरा मैदान में
August 29, 2019 • Snigdha Verma
समस्याओं के निस्तारन होने तक जारी रहेगा आंदोलनः अनित कसाना
नोएडा। गौतमबुधनगर की तीनों प्राधिकरणों नोएडा प्राधिकरण, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व यमुना प्राधिकरण की दमनकारी नीतियों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन मैदान में उतर गया है। गुरूवार को नोएडा मीडिया क्लब में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान भाकियू के जिला अध्यक्ष अनित कसाना व अन्य पदाधिकारियों ने तीनों प्राधिकरणों पर किसानों का दमन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि लगातार प्राधिकरण अधिकारी किसानों को झूठे आश्वासन देकर गुमराह करते रहे हैं। लेकिन अब किसान व भाकियू झूठे आश्वासनों में आने वाले नहीं हैं। अब प्राधिकरणों की दमनकारी नीतियों के खिलाफ सभी किसानों को लामबंद किया जाएगा और बडा आंदोलन कर अपनी सभी मांगें पूरी करवाई जाएंगी। उन्होने कहा कि किसानों की आबादी जहां पर है जैसी है कि स्थिति में छोड़ी जाए व इसी के तहत एक आंदोलन ग्राम याकूबपुर सेक्टर 84 नोएडा में अनिश्चितकालीन धरना चल रहा है। नोएडा प्राधिकरण द्वारा ग्राम सलारपुर खादर में अधिग्रहण रद्द होने के बाद भी मकानों के ऊपर नोटिस चस्पा करा कर मकान खाली करने की कार्यवाही की जा रही है, यह पूरी तरह से नोएडा प्राधिकरण की तानाशाही है। जिला गौतम बुध नगर के किसानों की पुरानी आबादियों को नोएडा प्राधिकरण द्वारा तानाशाही पूर्ण तरीके से तोड़ा जा रहा है, पूरी जिंदगी की मेहनत व मजदूरी से ईमानदारी के साथ बने हुए मकान एवं आबादी को बचाने के लिए भारतीय किसान यूनियन गौतमबुधनगर ने आर-पार की लड़ाई लड़ने का फैसला किया है। जब तक किसानों का पूर्ण रूप से निस्तारण नहीं होगा भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक आंदोलनरत रहेगा समय रहते हुए जिला प्रशासन व तीनों प्राधिकरण किसानों की समस्याओं का निस्तारण करें, आंदोलन के दौरान यदि कोई घटना होती है तो उसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन एवं प्राधिकरणों की होगी। प्रेसवार्ता के दौरान चैधरी महेंद्र सिंह चोरोली, अनित कसाना, सुभाष चैधरी, पवन खटाना, लज्जाराम प्रधान, जीवन सिंह, राजे प्रधान, परविंदर अवाना, अशोक भाटी, महेंद्र मुखिया, नरेश शर्मा, सुभाष नेताजी जिला पंचायत सदस्य, प्रकाश प्रधान, बिजेंद्र मावी, भोले शंकर, सुनील नागर सहित कई किसान व भाकियू के पदाधिकारी मौजूद रहे।