ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
देश के 7 करोड़ व्यापारियों को डिजिटल से जोड़ने के लिए राष्ट्रीय अभियान
August 8, 2019 • Snigdha Verma

नई दिल्ली।     दिल्ली एन सी आर संयोजक सुशील कुमार जैन ने बताया कि देश के 7 करोड़ व्यापारियों को डिजिटल से जोड़ने के लिए राष्ट्रीय अभियान आज शुरू किया गया। इस अवसर पर सुशील कुमार जैन ने बताया कि एचडीएफसी बैंक, मास्टरकार्ड और सरकार के कॉमन सर्विस सेंटर कैट के साथ करेंगे साझेदारी।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया अभियान को आगे बढ़ाते हुए कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने देश भर के व्यापारियों के बीच डिजिटल भुगतान को अपनाने और उनके ई-कॉमर्स शोरूम बनाकर ई-कॉमर्स पोर्टल से जोड़ने का एक राष्ट्रीय अभियान आज दिल्ली में शुरू किया ! इस अभियान के अंतर्गत कैट देश भर के 7 करोड़ व्यापारियों को डिजिटल तकनीक से जोड़ेगा ! कैट के इस अभियान में जिसे डिजी व्यापारी-सफल व्यापारी का नाम दिया गया है में  इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कॉमन सर्विस सेंटर, एचडीएफसी बैंक, मास्टरकार्ड, और ग्लोबल लिंकर्स ने साझेदारी की है। यह अपनी तरह की पहली जमीनी पहल है, जो ग्रामीण और शहरी अर्थव्यवस्था को बदल देगी और छोटे व्यापारियों और व्यापारियों को पूरे देश के स्थानों में भी लाभान्वित करेगी।
 
भारत में 5 लाख से अधिक सीएससी का एक नेटवर्क है, जिसमें कम से कम एक-दो ग्राम-स्तरीय उद्यमी हैं और लगभग 12 लाख लोगों को रोजगार देते हैं, जो नागरिकों को डिजिटल रूप से कई सेवाएं दे रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में सीएससी फ्रेंचाइजी चलाने वाले ग्रामीण स्तर के उद्यमी (वीएलई) स्थानीय समुदायों से जुड़ने की शक्ति रखते हैं। वे अब दूरस्थ स्थानों में डिजिटल वित्तीय साक्षरता और गोद लेने के कार्यक्रमों को चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे, अन्यथा औपचारिक बैंकिंग तक उनकी पहुंच नहीं होगी। कैट से संबद्ध 40 हजार देश भर के 40 हजार से ज्यादा व्यापारी संगठन इसके लाभ उठाने के लिए व्यापारियों और सीएससी को एक साथ लाने में उत्प्रेरक की भूमिका निभाएंगे।
 
कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि ई कॉमर्स भविष्य का एक महत्वपूर्ण व्यापार है  यह महसूस करते हुए कि कैट ग्लोबल लिंकर्स के सहयोग से प्रत्येक व्यापारी का  ई कॉमर्स पोर्टल पर एक लाइव  शोरूम बनाएगा जिसमें डिजिटल भुगतान, लॉजिस्टिक्स और लाइव चैट की एकीकृत सुविधाएं होंगी। यह पोर्टल जहाँ व्यापारियों के बीच व्यापार की संभावनाएं विकसित करेगा वहीँ दूसरी ओर व्यापारियों और उपभोक्ताओं के बीच भी सामान खरीदने की सुविधा प्रदान करेगा ! इस पोर्टल को सिंगापुर सरकार के बिजनेस सेन्स बॉर्डर प्रोग्राम से जोड़ा जाएगा जो भारतीय व्यापारियों को विदेशी बाजार भी  प्रदान करेगा। उन्होंने आगे कहा कि यह देश में पहली बार शुरू की जा रही एक अनूठी पहल है जो देश में डिजिटल भुगतानों की गहरी पैठ हासिल करने के लिए सीएससी की पहुंच और प्रभाव का उपयोग करेगी। मास्टरकार्ड और एचडीएफसी के सहयोग से भौतिक और डिजिटल बुनियादी ढाँचे के सही संतुलन के साथ व्यापारियों के डिजिटलीकरण के लिए और अधिक जोर दिया जाएगा !
  
सीएससी ई-गवर्नेंस के सीईओ श्री दिनेश त्यागी ने कहा, “मैं इस नई पहल को अपनाने के लिए उत्साहित हूं, जिसका उद्देश्य भारत के छोटे व्यापारियों के विशाल आधार को सशक्त बनाना होगा जो भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। कैट और एचडीएफसी बैंक के साथ जुड़कर, हम प्रधानमंत्री श्री मोदी के डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ”
 
इस साझेदारी पर बात करते हुए, स्मिता भगत, प्रमुख - सरकारी और संस्थागत व्यवसाय और ई-कॉमर्स, एचडीएफसी बैंक ने कहा, “हमें इस पहल में भागीदार होने का गर्व है जो छोटे व्यापारियों और व्यापारियों के जीवन में एक बड़ा बदलाव लाएगा क्योंकि इसके माध्यम से उनकी व्यापार वित्त और बैंकिंग संसाधनों तक आसान पहुंच होगी ! उन्होंने यह भी कहा की यह हमारे चल रहे सामाजिक कार्यक्रमों के साथ अच्छी तरह से मेल खाता है जो वित्तीय साक्षरता, वित्तीय समावेशन और पिरामिड के निचले भाग में आय पैदा करने वाले कौशल को बढ़ाते हैं। 
 
मास्टरकार्ड ने ग्लोबल पॉलिसी अफेयर्स एंड कम्युनिटी रिलेशंस के कार्यकारी निदेशक रवि अरोरा ने कहा, 'मास्टरकार्ड ने भारत में जागरूकता बढ़ाने और डिजिटल भुगतान को अपनाने के लिए कैट के साथ वर्षों तक काम किया है। इस बढ़ी हुई साझेदारी और पहल के माध्यम से, हम गाँव स्तर के उद्यमियों को सशक्त बनाना चाहते हैं और साथ ही भारतीय व्यापारियों के व्यवसायों को डिजिटल बनाने में मदद करने की उनकी क्षमता का निर्माण करना चाहते हैं। यह पहल वित्तीय समावेशन को चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी और अंतिम मील तक डिजिटल भुगतान के प्रवेश में मदद करेगी। यह घोषणा हमारे भारत के फोकस और हाल ही में घोषित एक अरब डॉलर के भारत में निवेश करने  की प्रतिबद्धता को डिजिटल इंडिया के साथ आगे बढ़ाने के लिए तैयार करती है। 
 
ग्लोबललिंकर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, समीर वकिल ने कहा, कैट के साथ देश भर के व्यापारियों डिजिटल रूप से सक्षम बनाना बेहद जरूरी है जिससे भारतीय व्यापारियों को वैश्विक व्यापार भी करने में आसानी हो ! व्यापारियों के व्यापार के विकास की हमारी प्राथमिकता देश के प्रत्येक व्यापारी को ई कॉमर्स से जोड़ेंगे और उन्हें घरेलु बाज़ार के अलावा वैश्विक बाज़ार भी उपलब्ध कराएंगे !इस अवसर पर नोयडा से सुशील कुभार जैन कैट के दिल्ली एन सी आर संयोजक एवं राजेन्द्र वर्मा संयोजक पश्चिम उत्तर प्रदेश ने भी भाग लिया।