ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
"हुनर हाट", दस्तकारों, शिल्पकारों का “एम्प्लॉयमेंट और एम्पावरमेंट एक्सचेंज"बन गया है- मुख्तार अब्बास नकवी
February 10, 2020 • Snigdha Verma

इंदौर । केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा देशभर में आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट",जरूरतमंद दस्तकारों, शिल्पकारों केआर्थिक सशक्तिकरण का "मेगा मिशन"साबित हुए हैं।

मध्य प्रदेश के महामहिम राज्यपालश्री लालजी टंडन और श्री नकवी ने 8 से16 फरवरी, 2020 तक विजय नगर, इंदौर, मध्य प्रदेश में आयोजित किये जारहे “हुनर हाट" का आज उद्घाटन किया।

इस अवसर पर महामहिमराज्यपाल श्री लालजी टंडन ने कहा किभारत विभिन्नता वाला देश है जहाँ अलग-अलग कला, संस्कृति, भाषा, वेशभूषा है।यही हिंदुस्तान की पहचान है। देश के हरकोने में हुनर है।

महामहिम राज्यपाल श्री लालजीटंडन ने श्री नकवी को व्यापक स्तर पर "हुनर हाट" के माध्यम से दस्तकारों, शिल्पकारों को रोजगार के अवसर मुहैयाकराने के लिए बधाई दी। महामहिमराज्यपाल ने कहा कि श्री नकवी के नेतृत्वमें केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालयप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के देश कीविरासत को मौका-मार्किट मुहैया कराने के "ड्रीम प्रोजेक्ट" को मजबूत कर रहा है।केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय देश केकोने-कोने के हुनरमंदों की शानदारविरासत का संरक्षण करने एवं उन्हेंराष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय मार्किट उपलब्धकराने का ऐतिहासिक कार्य कर रहा है।

इस अवसर पर श्री नकवी ने कहाकि स्वदेशी क्राफ्ट, क्यूज़ीन और कल्चरऔर दस्तकारों, शिल्पकारों के आर्थिकसशक्तिकरण  के "मेगा मिशन", "हुनरहाट" की सफलता का अंदाजा इसी बातसे लगाया जा सकता है कि पिछले लगभग 3 वर्षों में "हुनर हाट" के माध्यम से लगभग 3 लाख दस्तकारों, शिल्पकारों,खानसामों को रोजगार और रोजगार केमौके उपलब्ध कराये गए हैं। इनमे बड़ीसंख्या में देश भर की महिला दस्तकार भीशामिल हैं। आने वाले लगभग 5 वर्षों मेंलगभग 100 "हुनर हाट" आयोजित कियेजायेंगे जिनके माध्यम से लाखों "हुनर केउस्ताद" दस्तकारों, शिल्पकारों कोरोजगार और रोजगार के अवसर मुहैयाकराये जायेंगे।

श्री नकवी ने कहा कि केंद्र की मोदीसरकार ना केवल दस्तकारों, शिल्पकारोंको रोजगार दे रही है बल्कि भारत कीविलुप्त हो रही दस्तकारी-शिल्पकारी कीविरासत का विकास भी कर रही है।प्रधानमंत्रीं श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वालीसरकार ने देश के अलग-अलग हिस्सों में 100 "हुनर हब" स्वीकृत किये हैं। इन "हुनर हब" में दस्तकारों, शिल्पकारों,पारम्परिक खानसामों को वर्तमानजरूरतों के हिसाब से ट्रेनिंग दी जा रहीहै। उनके हुनर को और निखारा जा रहा हैऔर उनके स्वदेशी उत्पादों को राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय मार्किट मुहैया कराया जा रहाहै।

श्री नकवी ने कहा कि देश केविभिन्न राज्यों के प्रमुख स्थानों परआयोजित होने के कारण "हुनर हाट" मेंदस्तकारों, शिल्पकारों के हस्तनिर्मितदुर्लभ स्वदेशी उत्पाद, अन्य कलाकृतियोंकी जबरदस्त बिक्री हो रही है और इनदस्तकारों, शिल्पकारों को देश ही नहींबल्कि विदेशों से भी आर्डर मिल रहे हैं। "हुनर हाट", दस्तकारों, शिल्पकारों का “एम्प्लॉयमेंट और एम्पावरमेंट एक्सचेंज"बन गया है।

श्री नकवी ने कहा कि इंदौर मेंआयोजित किया जा रहा "हुनर हाट"अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वाराआयोजित 19वां "हुनर हाट" है। इससेपहले दिल्ली, मुंबई, इलाहाबाद, लखनऊ,जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद एवंपुदूचेरी में "हुनर हाट" आयोजित किए जाचुके हैं। अगले "हुनर हाट" का आयोजनइंडिया गेट लॉन, राजपथ, नई दिल्ली में (13 से 23 फरवरी 2020), रांची में (29 फरवरी से 8 मार्च, 2020), चंडीगढ़ में 13 मार्च से 22 मार्च, 2020 तक आयोजितकिया जाएगा।  

श्री नकवी ने कहा कि आने वालेदिनों में "हुनर हाट" का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, पुडुचेर्री, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुबनेश्वर, अजमेर आदि मेंकिया जायेगा।

इदौंर में आयोजित "हुनर हाट" में 125 से ज्यादा स्टॉल लगाए गए हैं जिनमेंदेश भर के लगभग 250 दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं जोअपने देश के कोने-कोने के स्वदेशीहस्तशिल्प और हथकरघा के शानदारस्वदेशी उत्पाद अपने साथ लाये हैं। यहाँविभिन्न राज्यों के पारंपरिक लज़ीज़पकवान भी "बावर्चीखाने" सेक्शन मेंअपनी सुगंध बिखेर रहे हैं। इसके अलावारोजाना होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमलोगों के आकर्षण का मुख्य केंद्र होंगे।