ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
*कैट और भारत सरकार के संयुक्त प्रयासों से एक विशाल भारतीय ई कॉमर्स बाज़ार शीघ्र लांच होगा*
April 24, 2020 • Snigdha Verma • Financial


*नोएडाकिरानालिंकर्स के अंतर्गत किराना और कैमिस्ट को जोड़ने का काम  हो चुका है शुरू।*

नोएडा

कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति के दौरान भारतीय नागरिकों को आवश्यक सामान प्रदान करने की चुनौती को हल करने के लिए केंद्र सरकार के वाणिज्य मंत्रालय के डीपीआईआईटी विभाग ने कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के साथ मिलकर उद्योग और आंतरिक व्यापार की आपूर्ति श्रृंखला में काम करने वाली विभिन्न कंपनियों और स्टार्टअप के प्रयासों को समन्वित  करते हुए एक राष्ट्रीय ई कॉमर्स पोर्टल को शुरू करने का निर्णय लिया है जिसमें स्थानीय किराना स्टोर ऑनलाइन ऑर्डर लेकर ग्राहकों तक अपने डिलीवरी सिस्टम के द्वारा आवश्यक वस्तुओं को ग्राहकों को घर बैठे ही उपलब्ध कराएँगे और देश की विराट आपूर्ति श्रंखला को और मजबूत बनाएंगे ।

इस राष्ट्रीय अभियान में डीपीआइआइटी एवं कैट के अलावा अन्य प्रमोटर स्टार्टअप इंडिया, इन्वेस्ट इंडिया, ऑल इंडिया कंज्यूमर प्रोडक्ट डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन और अवाना कैपिटल हैं। इस ई कॉमर्स को विश्व का सबसे बड़ा ई कॉमर्स बाजार बनाया जाएगा जिसमें देश के 7 करोड़ व्यापारियों को जोड़ने का लक्ष्य होगा । इसमें निर्माता, वितरक, थोक विक्रेता, खुदरा विक्रेता और उपभोक्ताओं की विस्तृत श्रंखला शामिल होगी ।

कोविड - 19 की बेहाल स्थिति के कारण लॉकडाउन अवधि के दौरान उपभोक्ताओं को आवश्यक वस्तुओं की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार ने विभिन्न आदेश जारी किये हैं । सरकार ने फार्मेसी और किराने की दुकानों को लॉकडाउन अवधि के दौरान खुले रहने और आवश्यक खाद्य आपूर्ति और दवाओं की होम डिलीवरी प्रदान करने के निर्देश समय समय पर दिए है। वर्तमान संकट के समय विशेष रूप से भारत के टियर 2 और 3 शहरों में आबादी जो कि अपनी दैनिक आपूर्ति के लिए इन किराना स्टोरों पर अत्यधिक निर्भर है और जो आपूर्ति के इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर अनेक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं को इस स्थिति से उबरने के लिए राष्ट्रीय ई-कॉमर्स मार्केट प्लेस को शुरू करने के उद्देश्य के साथ डीपीआईआईटी एवं कैट द्वारा इस आवश्यक पहल को शुरू किया गया है  ।

डीपीआईआईटी के तहत स्टार्ट अप इंडिया ने अपने पोर्टल पर वर्तमान में व्यापार के लगभग 54 विभिन्न वर्गों में से एक उपयुक्त प्रौद्योगिकी सक्षम समाधान वाले स्टार्ट अप्स और इच्छुक उद्यमियों से आवेदन आमंत्रित किए हैं। इच्छुक व्यक्ति प्रस्ताव ekiranasupply @ gmail.com पर भेज सकते हैं और टोल फ्री नंबर 1800115565 पर सुबह 10 बजे से शाम 5.30 बजे तक भी संपर्क कर सकते हैं।

कैट के दिल्ली एन सी आर संयोजक सुशील कुमार जैन ने कहा कि ई-कॉमर्स राष्ट्रीय बाजार की कल्पना और डिजाइन पहले ही की जा चुकी है और वर्तमान कोविड -19 संकट के तहत इस राष्ट्रीय मार्केटप्लेस ने देश के विभिन्न शहरों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने में पहले से ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने आगे कहा कि यह ई कॉमर्स बाजार व्यापारियों का, व्यापारियों के द्वारा और देश के व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए होगा जिसमें सरकार के सभी कानूनों और नियमों का अक्षरश : पालन किया जाएगा और 130 करोड़ लोगों की जनसंख्यां वाले हमारे देश को अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी के साथ विश्वसनीय एवं आसानी से सामान उपलब्ध कराने वाले ई कॉमर्स पोर्टल के रूप में विकसित किया जाएगा ।

 सुशील कुमार जैन ने कहा कि यह प्रधान मंत्री  नरेंद्र मोदी के "डिजिटल इंडिया और डिजिटल भुगतान" के दृष्टिकोण को पूरा करने की दिशा में एक ठोस और व्यापक कदम है जिसके द्वारा अभी तक परंपरागत रूप से व्यापार कर रहे व्यापारियों को ई कॉमर्स एवं डिजिटल भुगतान से जोड़ा जाएगा ।

इस संवध मे  सुशील कुमार जैन ने बताया कि नोएडा मे इस प्रयास के अंतर्गत नोएडा किराना लिंकर्स डाट काम मे काफी किराना और कैमिस्ट व्यापारी अपनी दुकान बना चुके है। और आगे भी सभी खो जोड़ने के प्रयास किये जा रहे है।