ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
2016 से योग ओलंपियाड का भी आयोजन कर रहा है एनसीईआरटी
June 22, 2020 • Snigdha Verma • Social

एनसीईआरटी ने स्कूल पाठ्यक्रम में शुरू की ऑनलाइन योग क्विज प्रतियोगिता 

नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के माध्यम से स्कूली पाठ्यक्रम में योग के एकीकरण को बढ़ावा देने के लिए बहुआयामी पहल की है। एनसीईआरटी ने उच्च प्राथमिक से माध्यमिक चरणों के दौरान स्वस्थ रहने के लिए योग पर पाठ्य सामग्री तैयार की है और 2016 से वो योग ओलंपियाड का आयोजन भी कर रहा है। 

कोविड-19 की मौजूदा स्थिति में बच्चों को उनके शिक्षकों और माता-पिता द्वारा घर पर ही योगाभ्यास कराया जा रहा है, जिसमें वे स्कूली शिक्षा के विभिन्न चरणों के लिए विकसित वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर के आधार पर शारीरिक व्यायाम भी करते हैं। लेकिन, कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण इस साल योग ओलंपियाड का आयोजन करना मुश्किल है। छात्र घर पर ही सीख सकें और सुरक्षित रह सकें, इसके लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोशल मीडिया के माध्यम से एनसीईआरटी द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन योग क्विज प्रतियोगिता शुरू की।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री ने कहा कि इस प्रतियोगिता का उद्देश्य जागरूकता पैदा करना और विभिन्न योग अभ्यासों पर प्रामाणिक स्रोतों से व्यापक जानकारी प्राप्त करने के लिए बच्चों को प्रेरित करना है। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता का उद्देश्य बच्चों में गहरी समझ विकसित करना और उन्हें प्रोत्साहित करना है कि वे अपने जीवन और जीने में इन अभ्यासों की समझ को लागू करें। उन्होंने कहा कि ये प्रतियोगिता बच्चों को स्वस्थ आदतें और जीवनशैली विकसित करने में मदद करेगी और इस प्रकार से उनके बेहतर भावनात्मक और मानसिक कल्याण को बढ़ावा देगी।

श्री पोखरियाल ने बताया कि ये योग क्विज प्रतियोगिता, योग के विभिन्न आयामों पर होगी। एनसीईआरटी द्वारा विकसित पाठ्यक्रम के आधार पर यम और नियम शत कर्म, क्रिया, आसन, प्राणायाम, ध्यान, बन्ध और मुद्रा। उन्होंने बताया कि यह प्रतियोगिता देशभर में कक्षा 6 से 12 तक के सभी छात्रों के लिए खुली है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सवालों को टेक्स्ट से ऑडियो में परिवर्तित करके विशेष जरूरत वाले छात्रों की सक्रिय भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए गए हैं। इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में पूछे जाने वाले सवाल बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे। ये हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में बच्चों के लिए उपलब्ध होंगे। बच्चा इनमें से कोई भी उपयुक्त भाषा चुन सकता है। शीर्ष अंक प्राप्त करने वाले 100 छात्रों को योग्यता का प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा।