ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
बाल सुधार गृह के 13 बच्चों के कोरोना संक्रमित होने से हड़कंप
July 4, 2020 • Snigdha Verma

आरटीपीसीआर टेस्ट में 13 में 08 की रिपोर्ट निगेटिव आई : डीपीओ 

नोएडा। कोरोना संकट से निबटने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्य सरकार ने प्रदेश के जेलों में बंद 13 हजार से अधिक बंदियों को जमानत और पेरोल पर रिहा कर दिया, ताकि जेलों में सामाजिक दूरी बनाकर महामारी से बंदियों को बचाया जा सके। लेकिन, नोएडा के फेज-दो स्थित बाल सुधार गृह में एक साथ 13 बच्चों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने से हड़कंप मच गया है। हालांकि शनिवार की शाम को जारी बयान में जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि आरटीपीसीआर टेस्ट में इन 13 किशोरों में 08 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि शेष पांच की रिपोर्ट का इंतजार है। 

डिस्ट्रिक्ट प्रोबेशन ऑफिसर (डीपीओ) अतुल सोनी ने बताया कि नोएडा के फेज-दो स्थित बाल सुधार गृह में 162 बच्चे हैं। एहतियातन दो जुलाई को इन बच्चों की कोरोना वायरस के संक्रमण की रैपिड टेस्ट कराई गई थी। एंटीजेन रिपोर्ट में 13 बच्चे पॉजिटिव पाए गए हैं। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। विभाग ने अब इन बच्चों के सैंपल को एनआईबी भेजा है, ताकि क्रॉस टेस्टिंग हो सके। फिलहाल सभी 13 बच्चों को निम्स के आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि बाल सुधार गृह में रह रहे शेष बच्चों की एंटीजेन रिपोर्ट निगेटिव आई है। लेकिन, उनके सैंपल भी जांच के लिए एनआईबी भेजे गए हैं। 

डीपीओ अतुल सोनी ने बताया कि यद्यपि 13 के अलावा दूसरे बच्चे और स्टाफ पॉजिटिव नहीं पाए गए हैं, लेकिन एनआईबी से रिपोर्ट आने तक उनकी निगरानी की जा रही है। उन्होंने बताया कि जिन बच्चों की एंटीजेन रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें कोरोना संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे। स्वास्थ्य विभाग अब कांटेक्ट ट्रेसिंग कर इस बात पता लगाने का प्रयास कर रहा है कि ये बच्चे कैसे संक्रमित हुए हैं।  

शनिवार की शाम को जिला प्रोबेशन अधिकारी अतुल सोनी ने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि 02 जुलाई को स्वास्थ्य विभाग ने 162 संवासियों का कोविड-19 आरटीपीसीआर और एंटीजन टेस्ट कराया था। उस एंटीजन रैपिड टेस्ट में 13 किशोर कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उन्हें उपचार के लिए निम्स हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था। उन्होंने बताया कि 04 जुलाई को स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आरटीपीसीआर टेस्ट में 120 संवासियों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होंने बताया कि पूर्व में जिन 13 किशोरों को पॉजिटिव पाया गया था, उनमें से 08 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। शेष पांच की रिपोर्ट की प्रतीक्षा है। जिन किशोरों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, उन्हें डिस्चार्ज करने की कार्रवाई की जा रही है।