ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे डॉ. हेगड़े : ओम बिरला
June 11, 2020 • Snigdha Verma • Political

संसद सदस्यों ने श्री के.एस. हेगड़े को श्रद्धांजलि दी

नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष केएस हेगड़े की जयंती के पर गुरुवार को संसद भवन में उनके चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। लोकसभा की महासचिव स्नेहलता श्रीवास्तव और लोकसभा, राज्यसभा सचिवालय के अधिकारियों ने भी श्री हेगड़े को श्रद्धांजलि अर्पित की।  

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ट्वीट कर कहा कि श्री हेगड़े को उनकी उत्कृष्ट विधिक पृष्ठभूमि और समृद्ध विधायी अनुभव के लिए याद किया जाता है। उन्होंने नई आवश्यकताओं के अनुरूप प्रक्रिया तथा कार्य संचालन संबंधी नियमों की लगातार समीक्षा किए जाने और संसदीय समय का सदुपयोग करने पर जोर दिया था।

केएस हेगड़े एक विख्यात संसदविद् और विधिवेत्ता थे। वह 1952 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए थे। 1957 में तत्कालीन मैसूर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त किए जाने पर त्यागपत्र दिए जाने तक सभा के सदस्य रहे। बाद में उन्होंने दिल्ली और हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। 1967 में उन्हें उच्चतम न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया और 30 अप्रैल, 1973 को त्यागपत्र देने तक वह इस पद पर बने रहे। 

1977 में श्री हेगड़े दक्षिण बंगलोर निर्वाचन क्षेत्र से छठी लोकसभा के लिए चुने गए। श्री हेगड़े 21 जुलाई, 1977 को डा. नीलम संजीव रेड्डी द्वारा त्यागपत्र दिए जाने के बाद लोकसभा अध्यक्ष चुने गए। जनवरी, 1980 में लोकसभा अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद श्री हेगड़े कर्नाटक में अपने पैतृक स्थान में बस गए। श्री हेगड़े का 24 मई, 1990 को निधन हो गया।