ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
चलती एसी बस में हाथ बांधकर महिला के साथ दुष्कर्म 
June 17, 2020 • संवाददाता • Crime

 प्रतापगढ़ से दो बच्चों के साथ नोएडा आ रही थी महिला, एक गिरफ्तार, बस जब्त 
 
नोएडा। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ से नोएडा नोएडा आ रही महिला के साथ चलती एसी बस में हाथ-पैर बांधकर बस के चालक ने दुष्कर्म की सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया है। महिला की शिकायत पर थाना सेक्टर-29 की पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर बस को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस बस मालिक और एक अन्य आरोपी की तलाश कर रही है। 

जानकारी के मुताबिक महिला यूपी के प्रतापगढ़ से प्राइवेट एसी स्लीपर बस से अपने बच्चों के साथ नोएडा के सेक्टर-45 अपने पति के पास आ रही थी। रास्ते में बस के ड्राइवर ने महिला के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया और उसे सेक्टर 20 थाना क्षेत्र के विनायक हॉस्पिटल के पास उतारकर फरार हो गया। नोएडा पहुंचने पर महिला ने अपने साथ हुई घटना के बारे में पति को बताया। पति की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर बस को बरामद कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि एक अन्य आरोपी और बस मलिक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।  

थाना सेक्टर 20 में पीड़ित महिला ने बताया कि ड्राइवर ने पहले उसे आगे स्लीपर सीट दी। बाद में वह और पैसे मांगने लगा। नोएडा पहुंचकर शेष पैसे देने की बात कहने पर चालक ने उसे सबसे पीछे वाली सीट पर बिठा दिया। वहां कोई नहीं था। कुछ देर बाद ड्राइवर आया और जोर-जबरदस्ती करने लगा। उसने हाथ बांध दिया और गलत काम किया। पीड़ित महिला ने बताया कि ड्राइवर ने शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी दी। मेरे साथ दो छोटे बच्चे होने के कारण मैं डर गई थी। मैं कुछ नहीं बोल पाई। दुष्कर्म के बाद कंडक्टर और एक अन्य लड़के ने कहा, पैसा ले लीजिए और बात खत्म कर दीजिए।

महिला ने रास्ते में ही फोन कर अपने पति को आपबीती बताई। नोएडा पहुंचने पर चालक ने उसे बस से उतार दिया। उसी दौरान उसका पति और एक अन्य लड़का बस में चढ़ गए। वह बस के पीछे-पीछे रिक्शे से आई। महिला ने बताया कि सेक्टर 62 में ड्राइवर चलती बस से कूदकर भाग गया। पीड़िता ने बताया कि वह पहली बार नोएडा आई है। उसे नहीं पता कि किस जगह उसके साथ ये घटना हुई है। उसने बताया कि बस में 10 से 12 लोग सवार थे। वे सभी सोये हुए थे।   

डीसीपी महिला अपराध वृंदा शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने पीड़ित महिला कि शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। एफआईआर में नामित अभियुक्तों में एक की गिरफ्तारी कर ली गई है। बस को भी सीज कर लिया गया है। शेष अभियुक्तों और बस के मालिक की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई है। पीड़िता की जांच मेडिकल बोर्ड से कराई जा रही है। इसके अलावा बस में सह-यात्रियों को तलाश कर उनके बयान किए जा रहे हैं, ताकि अभियुक्तों को सजा दिलाई जा सके।