ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने और सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों के निर्माण के लिए नोएडा के साथ समझौता , प्राधिकरण द्वारा 162 सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशन (पीसीएस) की स्वीकृति
July 9, 2020 • Snigdha Verma • Financial

New Delhi

एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल), विद्युत मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत सार्वजनिक उपक्रमों के एक संयुक्त उपक्रम ने इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने और सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों और उससे संबंधित बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए न्यू ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण (नोएडा) के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस साझेदारी के माध्यम से, ई-आवागमन में तेजी लाने की दिशा में एक ढांचागत पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करने में भी आसानी होगी क्योंकि देश अब कोविड-19 महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से बाहर निकल रहा है।

इस समझौते पर, नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक, श्री एके त्यागी और ईईएसएल के कार्यकारी निदेशक (विकास), श्री अमित कौशिक ने श्रीमती रितु माहेश्वरी, सीईओ, नोएडा प्राधिकरण की मौजूदगी में हस्ताक्षर किए गए।

समझौते के हस्ताक्षर समारोह में बोलते हुए, श्रीमती रितु माहेश्वरी, सीईओ, नोएडा प्राधिकरण ने कहा, “मजबूत ईवी अवसंरचना के साथ एक स्थायी परिदृश्य का विकास करना, इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति उपभोक्ता का विश्वास उत्पन्न करने की कुंजी है। इससे उपभोक्ता की सुविधा में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी। इलेक्ट्रिक वाहन की बढ़ती पहुंच के साथ, स्थानीय प्रदूषकों के उत्सर्जन के स्तर में भी कमी आने की उम्मीद है, जिससे स्वच्छ हवा और कई सार्वजनिक स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो सकते हैं।”

श्री अमित कौशिक, कार्यकारी निदेशक (विकास), ईईएसएल ने कहा, “इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) दुनिया के एजेंडे में चिरस्थायी भविष्य की ओर बढ़ने के क्रम में सबसे आगे हैं और ईईएसएल को अपनी राष्ट्रीय ई-आवागमन के लिए भारत में ईवी कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए प्रगतिशील होकर अग्रणी पहल करने पर गर्व है। नोएडा में सार्वजनिक ईवी चार्जिंग अवसंरचना स्थापित करने हेतु सह-निर्माण करने के लिए नोएडा प्राधिकरण के साथ साझेदारी करने में हमें खुशी महसूस हो रही है।”

ईईएसएल कुशल जनशक्ति के माध्यम से सार्वजनिक चार्जिंग अवसंरचना का संचालन और रख-रखाव के साथ-साथ समझौते से संबंधित सेवाओं पर अग्रिम निवेश करेगा। नोएडा प्राधिकरण चार्जिंग अवसंरचना के लिए स्थान उपलब्ध कराने का जिम्मेदार होगा। इस पहल से, प्रति वर्ष प्रति ई-कार से 3.7 टन से ज्यादा कार्बन डाईआक्साइड उत्सर्जन कम होने का अनुमान है।

नोएडा प्राधिकरण द्वारा 162 सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशन (पीसीएस) की स्वीकृति प्रदान की गई है जिनमें 54 भारत डीसी001 (15 किलोवाट) और 108 122किलोवाट (50 किलोवाट सीसीएस2+ 50 किलोवाट सीएचएडीईएमओ+ 22 किलोवाट टाइप2) फास्ट चार्जर, भारी उद्योग विभाग (डीएचआई) शामिल हैं। ईईएसएल नोएडा शहर में सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों की तैनाती के लिए चयनित संगठन है।

अब तक ईईएसएल द्वारा 20 ईवी चार्जर लगाए जा चुके हैं, 13 चालू हैं और 7 चालू होने की अवस्था में हैं। इऩ ईवी चार्जरों में से कुछ को नोएडा के प्रमुख स्थानों जैसे गंगा शॉपिंग कॉम्प्लेक्स (सेक्टर 29), इलेक्ट्रॉनिक सिटी मेट्रो स्टेशन (सेक्टर 63), शॉपप्रिक्स मॉल (सेक्टर 61 के सामने), आरटीओ ऑफिस (सेक्टर 33), अद्वैत चौक (सेक्टर 142) के पास और सेक्टर 50 के मेन मार्केट के आस-पास लगाए गया है।

मांग संग्रह और थोक खरीद के अपने अभिनव मॉडल के साथ, ईईएसएल वास्तविक बाजार मूल्य की तुलना में बहुत रियायती दर पर इलेक्ट्रिक वाहन और चार्जर प्राप्त करता है। इसके अलावा, इसमें कम लागत वाले फंड के साथ, परियोजना की समग्र लागत प्रतिस्पर्धी बन जाती है। इसके साथ, ईईएसएल द्वारा एक टिकाऊ व्यापार मॉडल स्थापित किया गया है जो अंततः उपभोक्ताओं के लिए सस्ता हो जाता है।

नोएडा प्राधिकरण द्वारा शहर को स्वच्छ, हरा-भरा और अधिक चिरस्थायी बनाने की दिशा में लगातार काम किया जा रहा है। यह सार्वजनिक चार्जिंग अवसंरचना की स्थापना करने और शहर में ई-आवागमन को अपनाने के लिए प्रेरित करने में सबसे अग्रिम रहा है।