ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
कैट ने प्रधानमंत्री से देश में राष्ट्रीय लॉक डाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ाने का आग्रह किया       
April 8, 2020 • Snigdha Verma • Social

नोएडा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आज भेजे गए एक पत्र में कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट)  एन सी आर के संयोजक  सुशील कुमार जैन ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के वर्तमान हालात के मद्देनजर आगामी 30 अप्रैल तक लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने का आग्रह किया है ! कैट ने कहा की उसने देश के सभी राज्यों के प्रमुख व्यापारी नेताओं के साथ किये गए एक सर्वेक्षण से निकली राय के आधार पर  " स्वयं से पहले राष्ट्र " का अनुसरण करते हुए प्रधानमंत्री से ाहरह किया है की इस राष्ट्रीय आपदा के इस विकत समय में वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए यह उचित होगा की सरकार राष्ट्रीय लॉक डाउन की अवधि को 30 अप्रैल तक बढ़ाये जिससे कोरोना से प्रभावित होने वाले लोगों की संख्यां पर काबू पाया जा सके !कैट ने प्रधानमंत्री को आश्वासन दिया कि व्यापारी इस घातक बीमारी से निपटने के लिए सरकार के साथ कंधे से कन्धा मिलाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे और भारत इस आपदा से निपटने में अवश्य विजयी होगा !

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने प्रधान मंत्री श्री मोदी को भेजे पत्र में कहा कि घातक कोविड -19 मानवता के लिए एक बड़ी चुनौती है और दुनिया भर में सबसे समृद्ध राष्ट्रों में  कोरोना ने भयंकर विनाश किया है  जबकि भारत में केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों के अथक परिश्रम किया के द्वारा यह सुनिश्चित किया है कि कोरोना नियंत्रण से बाहर न हों। हालांकि नागरिकों के गैर-जिम्मेदार व्यवहार के कारण कोरोना वायरस का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।

श्री सुशील कुमार जैन  ने कहा कि इस महामारी के लिए अर्थव्यवस्था का सबसे कमजोर वर्ग भारत के छोटे और मध्यम स्तर के व्यापारी होंगे जिनके पास लॉकडाउन अवधि का सामना करने के लिए पर्याप्त संसाधन भी  नहीं हैं। लॉकडाउन की वजह से देश के व्यापारियों को अनेक आर्थिक एवं वित्तीय चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा फिर भी पिछले एक सप्ताह में भारत में कोरोना वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए और इस बीमारी से निपटने और इसके सामुदायिक संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के समग्र प्रयास में देश का व्यापारी वर्ग मुस्तैदी और एकजुटता से सरकार के साथ खड़ा है और लॉक डाउन को लेकर जो भी निर्णय सरकार लेती है, व्यापारिक समुदाय उस निर्णय का अक्षरश पालन करेगा ।

श्री भरतिया और श्री खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को अवगत कराया कि केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीथारमन को कैट ने एक ज्ञापन पहले से ही भेजा है जिसमें व्यापारियों के लिए विशिष्ट आर्थिक राहत की मांग की गई है और कैट ने आशा व्यक्त की है कि सरकार उनकी वास्तविक चिंताओं का समाधान करेगी और व्यापारी वर्ग के लिए एक आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा करेगी ।

सुशील कुमार जैन  ने कहा कि भारत धैर्य और दृढ़ता जैसे मूल्यों से बना एक देश है। भले ही एक निरंतर लॉकडाउन का आर्थिक और वित्तीय प्रभाव असहनीय हो, लेकिन कैट उम्मीद करता है कि हम अपनी अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए मजबूती से लड़ेंगे और सरकार से मिले समर्थन के साथ अपने संसाधनों को फिर से ऊर्जावान बनाएंगे।