ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने किया शहद परीक्षण के लिए पहली प्रयोगशाला का शुभारंभ
July 24, 2020 • Snigdha Verma • Ministries

 आणंद (गुजरात) में स्थापित की गई अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रयोगशाला, 5 और की योजना

नई दिल्ली । शहद परीक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की भारत की पहली प्रयोगशाला का शुभारंभ केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किया। यह प्रयोगशाला आणंद (गुजरात) में कृषि मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के सहयोग से स्थापित की गई है। ऐसी पांच और प्रयोगशालाएं खोलने की भी योजना है। इस अवसर पर मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण कार्यक्रम का भी शुभारंभ श्री तोमर ने किया।

कार्यक्रम में श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार गांव-गरीब-किसानों की समृद्धि के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। प्रधानमंत्रीजी की सदैव इच्छा रही है कि छोटे से छोटे किसान के जीवन में भी सकारात्मक बदलाव आएं और उनकी आय बढ़े, उनकी ताकत बढ़े और ऐसा होने पर ही हमारे देश की ताकत बढ़ेगी क्योंकि बड़ी आबादी गांवों में निवास करती है। इनके सहित विभिन्न सेक्टरों के लिए योजनाएं बनाते हुए सरकार देश का निरंतर विकास कर रही है। श्री तोमर ने कहा कि केंद्र सरकार के प्रयासों से मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देते हुए शहद के उत्पादन तथा निर्यात में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि आगे भी इस क्षेत्र में और बेहतर प्रयास सभी को मिल-जुलकर करना होंगे। मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण तथा जागरूकता कार्यक्रम का विस्तार करने की जरूरत है।

श्री तोमर ने छोटे किसानों को लक्ष्य में रखते हुए मधुमक्खी पालन के विकास पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार की सब्सिडी का पूरा लाभ निचले तबके तक पहुंचना चाहिए, मधुमक्खी पालन के क्षेत्र में भी यह बात देखी जाना चाहिए। इस प्रयोगशाला के माध्यम से शहद की गुणवत्ता-प्रामाणिकता को सिद्ध किया जा सकेगा। आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत भी मधुमक्खी पालन के लिए पांच सौ करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है, जिसके जरिए आमूलचूल परिवर्तन आएंगे। टेस्टिंग लैब की सुविधा को और भी विकेंद्रीत करना पड़ेगा। जिन क्षेत्रों में हितग्राही ज्यादा है, वहां इस तरह की सुविधाएं हों, उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए ज्यादा कार्यक्रम किए जाएं। समारोह को केंद्रीय मंत्री श् गिरिराज सिंह,  परषोत्तम रूपाला,  कैलाश चौधरी एवं  संजीव बालियान ने भी संबोधित किया। आणंद के सांसद श्मितेश पटेल, एनडीडीबी के चेयरमैन  दिलीप रथ सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।