ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
कोरोना से योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण की मौत
August 2, 2020 • Snigdha Verma • Social

 

मुख्यमंत्री समेत मंत्रिमंडल के सहयोगियों ने दुख जताया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण की कोरोना संक्रमण से रविवार को मौत हो गई। 18 जुलाई को सिविल अस्पताल में उनके सैंपल की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उनके परिवार के कई लोग भी संक्रमित हैं। उनका इलाज लखनऊ के पीजीआई में चल रहा था। कमला रानी के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत पार्टी के नेताओं और मंत्रिमंडल के सहयोगियों ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया।

वर्ष-2017 में बीजेपी ने उन्हें कानपुर के घाटमपुर सीट से चुनावी मैदान में उतारा था। वह इस सीट से जीतने वाली पार्टी की पहली विधायक थीं। पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा व लगन को देखते हुए 2019 में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। वह सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थीं। लखनऊ में तीन मई 1958 को जन्मी कमल रानी वरुण की शादी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रतिबद्ध स्वयंसेवक एलआईसी में प्रशासनिक अधिकारी किशन लाल वरुण के साथ हुई थी। समाज शास्त्र से मास्टर डिग्री प्राप्त कमल रानी को वर्ष 1989 में बीजेपी ने शहर के द्वारिकापुरी वार्ड से कानपुर पार्षद का टिकट दिया। चुनाव जीतकर नगर निगम पहुंची कमल रानी 1995 में दोबारा उसी वार्ड से पार्षद निर्वाचित हुईं।

बीजेपी ने 1996 में उन्हें घाटमपुर (सुरक्षित) संसदीय सीट से चुनाव मैदान में उतारा। अप्रत्याशित जीत हासिल कर लोकसभा पहुंची कमल रानी ने 1998 में भी उसी सीट से दोबारा जीत दर्ज की। वर्ष 1999 के लोकसभा चुनाव में उन्हें सिर्फ 585 मतों के अंतराल से बसपा प्रत्याशी प्यारेलाल संखवार के हाथों पराजित होना पड़ा था। सांसद रहते कमल रानी ने लेबर एंड वेलफेयर, उद्योग, महिला सशक्तिकरण, राजभाषा व पर्यटन मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समितियों में रहकर काम किया। वर्ष 2012 में पार्टी ने उन्हें रसूलाबाद (कानपुर देहात) से टिकट देकर चुनाव मैदान में उतारा, लेकिन वह जीत नहीं सकी। 2015 में पति की मृत्यु के बाद 2017 में वह घाटमपुर सीट से बीजेपी की पहली विधायक चुनकर विधानसभा में पहुंची थीं। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्र डा. विजय यादव ने कैबिनेट मंत्री के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि तकनीकी शिक्षा के लिए यह बहुत दुखद घटना है। उन्होंने बताया कि उनसे कमल रानी से उनका पारिवारिक संबंध था।