ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
क्वारंटाइन शेल्टर हाउस में प्रवासी ने रचायी शादी
May 22, 2020 • सुबोध कुमार • Social
 
 उप-जिलाधिकारी ने वर-वधु को दिया उपहार और आशीर्वाद
 
इटावा। उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में लॉकडाउन के चलते अजीतमल कस्बे में बनाये गये शेल्टर होम में प्रवासी युवक ने दिल्ली निवासी युवती से विवाह रचाया। दोनों परिवारों की सहमति और उपजिलाधिकारी की अनुमति के बाद शेल्टर होम में शादी करायी गयी। उपजिलाधिकारी ने वर-वधु को उपहार और आशीर्वाद दिया।
 
युवक की शादी दिल्ली की एक लड़की से तय हो चुकी थी। लड़की पक्ष के लोग भी औरैया जिले के एक गांव में आए थे, लेकिन लॉकडाउन के चलते फंस गए। ऐसे में यहां क्वारंटाइन सेंटर में ही दोनों शादी के पवित्र बंधन में बंधकर एक दूजे के हो गए। क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोग इस शादी के जनाती बराती बने। उपजिलाधिकारी रमेश यादव ने जोड़े को उपहार और आशीर्वाद दिया। 
 
दिल्ली निवासी बाबूराम ने अपनी पुत्री राधा की शादी औरैया जिले के अजीतमल क्षेत्र के सिकरोडी गांव निवासी संतोष कुमार के पुत्र श्रीकांत के साथ तय की थी। मार्च में बाबूराम अपने परिवार के साथ अजीतमल क्षेत्र के गांव शाहपुर बेदी रिश्तेदारी में झंडा चढ़ाने आए थे। इसी बीच 25 मार्च को लॉकडाउन प्रभावी हो गया। इसलिए वे दिल्ली नहीं जा सके। दूसरी ओर, अजीतमल क्षेत्र के बीहड़ी गांव सिकरोडी निवासी संतोष कुमार का पुत्र श्रीकांत भी बाहर नौकरी करता है। लॉॅकडाउन के चलते जब वह घर आया तो अजीतमल के विद्या दीप पब्लिक स्कूल में उसे 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया गया। 
 
इसी बीच शादी की डेट भी नजदीक आ गयी। दोनों के परिजनों ने शेल्टर होम में ही शादी करने का फैसला किया। इसके लिए अधिकारियों से अनुमति मांगी गई। उपजिलाधिकारी रमेश यादव ने अनुरोध स्वीकार किया और शादी करने की अनुमति भी दे दी।
 
उप-जिलाधिकारी रमेश यादव ने बताया कि विवाह समारोह में सोशन डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। वर और वधु के मुंह पर मास्क लगा था। दोनों ने एक दूसरे को जयमाला पहनाया और फेरे लिये। सभी ने दूर से ही वर वधु को आशीर्वाद और उपहार दिये। शेल्टर हाउस में आयोजित शादी समारोह में विद्यालय के प्रबंधक सुधीर गुप्त और प्रधानाचार्य गोपाल डे भी मौजूद थे।