ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
मध्यप्रदेश पर दुबारा से कांग्रेस सत्ता पाने के लिये आर्थिक न्याय अपनाए - रोशन लाल अग्रवाल
July 25, 2020 • एस. ज़ेड. मलिक • Political

नई दिल्ली - इस समय कांग्रेस न तो अपने आपको बचाने का प्रयास पर रही और न अपने प्रदेशों को, इससे ऐसा लगता है, या तो सोनिया , राहुल , प्रियंका काफी दबाव की स्थिति में डर कर सहमे हुए फूंक फूंक कर क़दम रख रहें हैं या पार्टी के कारीकर्ता ही कांग्रेस को भारी दबाव में ले कर चल रहे हैं या कांग्रेस राजनीतिक से सन्यास लेना चाहती ? कांग्रेस के साथ आंतरिक मामला चाहे जो भी हो । कांग्रेस इस समय बैक फुट पर है। यहां तक उसके दिग्गज कार्यकर्ता और कांग्रेस के पिलर कहे जाने वाले कापिल सिब्बल हों या अभिषेक शांघवी, चिदम्बरम हो या आनंद शर्मा सभी भी पहले की तरह कांग्रेस के प्रति संवेधनशील नहीं दिखाई दे रहे हैं।

इस बाबत में आर्थिक न्याय संस्थान के संचालक और आर्थिक मामले के विश्लेषक रोशन लाल अग्रवाल जो पिछले कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर रहे राहुल के उस बयान व एलान की सराहना करते हुए कहते हैं कि जिस समय राहुल जी ने मध्यप्रदेश में मीडिया के सामने एक परिवार को साढ़े सात हजार महीना देने की बात कही मुझे लगा कि कांग्रेस फिर से भारत सत्ता पर लौट चली परन्तु उसके बाद जैसे राहुल खामोश हुए मानों उन पर पाबंदी लगा दिया गया हो ,दुबारा ऐसा बयान ही नहीं दिया न गरीबी हटाने पर कोई बयान ही दिया । जब कि आज भारत की जनता को आर्थिक न्याय की आवश्यकता है जिसे कांग्रेस ही पूरा कर सकती है। श्री अग्रवाल ने कहा कि मैं चाहता हूं कि कांग्रेस फिर से भारत से गरीबी दूर करने का एलान कर भारत के हर नागरिको को 10000 ₹ बिना भेद भाव का नागरिकता भत्ता देने का एलान कर। में बताउंगा पैसे कहां से आएंगे । और किसी का कोई न नुकसान होगा न तो भारत के किसी नागरिकों पर अतिरिक्त बोझ आएगा। और सरकार के खाते में इतना पैसा आ जायेगा कि सरकार अपने सरकारी सारे बजट पूरा करके हर महीने भारत के हर नागरिकों नागरिकता भत्ता के में अदा करेगी। और जनता खुशहाल हो जाएगी देश विकसत हो जाएगा। इसका फार्मूला गरीबी रेखा नही अमीरी रेखा और अंग्रेज़ी की पुस्तक लाइन ऑफ वेल्थ में पूर्ण तरीका दे दिया गया है इस पुस्तक को कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य जानाब हुसैन दलवई को भेंट कर कांग्रेस को दुबारा से सत्ता पर क़ाबिज़ होने मंत्र दिया अब देखना है कि कांग्रेस के यह सिपाही सोनिया या राहुल प्रियंका तक इस फॉर्मूला को पहुंचा पाते हैं या नही इससे पता चल जाएगा कांग्रेस के कितने हमदर्द हैं कांग्रेस के हितैषी।