ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
महामारी से दुनियाभर में प्रभावित हुआ है सप्लाई चेन : राकेश कुमार
June 2, 2020 • Snigdha Verma • Financial

इफ्जास के दूसरे दिन बेबिनार और रैंप शो
 
नई दिल्ली। इंडियन फैशन ज्वैलरी एंड एसेसरीज का वर्चुअल मेला पूरे शबाब पर है। ये मेला 4 जून 2020 तक चलने वाला है। हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) के महानिदेशक राकेश कुमार ने बताया कि इस वर्चुअल मेले में शामिल उत्पादक और कारीगर बदली हुई परिस्थितियों में एक अनोखी तरह की अनूभूति कर रहे हैं। वो अपने घरों और फैक्टरी परिसर में सुरक्षित बैठकर अपने उत्पादों को दुनियाभर के ग्राहकों तक पहुंचा रहे हैं। अपने घरों में सुरक्षितर रहा कर ही दुनियाभर के ग्राहकों से संवाद कर पा रहे हैं।

राकेश कुमार ने बताया कि कोविड 2019 लोग यात्राएं नहीं कर पा रहे हैं, ऐसे में वैश्विक अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ा है। मेला आयोजकों को अपने आयोजनों को स्थगित और रद्द कर विकल्पों की तलाश करनी पड़ रही है। ऐसे में ईपीसीएच के वर्चुअल मेले का ये प्लेटफार्म उनके सदस्य निर्यातकों के लिए राहत और अवसर का एक बड़ा मंच साबित होगा। इससे जहां व्यापार पटरी पर लौटेगा, वहीं एमएसएमई सेक्टर में काम करने वाले छोटे कारगीरों, शिल्पकारों, हस्तशिल्पियों को काम भी मिल सकेगा। उनकी जिंदगियों में आया विराम खत्म होगा और वे विकास के रास्ते पर फिर से चल सकेंगे।

श्री कुमार ने कहा कि कि ईपीसीएच ने हर संभव प्रयास किया है कि वर्चुअल मोड पर होने वाले इस आयोजन में वो सारी गतिविधियां शामिल हों, जो सामान्य मेले में आयोजित होती हैं। इसी कड़ी में रैंप-शो, वेबिनार्स और राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हस्तशिल्पियों की कलाकृतियों का प्रदर्शन भी  वर्चुअल मोड पर किया जा रहा है। आयोजन के दूसरे दिनए रैंप शो  आयोजित किया गया, जिसमें फैशन ज्वैलरी और एसेसरीज उत्पादों का प्रदर्शन कर रही माडल्स ने रैंप पर चल कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। आयोजन के दूसरे दिन रैंप शोए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित शिल्पियों की कला का प्रदर्शन और वेबिनार, टेक्नोलॉजी टुडे, मर्जिंग दि वर्ल्ड ऑफ क्राफ्ट, डिजाइन एंड साइंस विषय पर पैनल डिस्कशन का आयोजन प्रमुख रूप से किया गया है।

टेक्नोलॉजी टुडे, मर्जिंग दि वर्ल्ड ऑफ क्राफ्ट, डिजाइन एंड साइंस विषय पर आयोजित वेबिनार में कई विषय विशेषज्ञों ने अपने अनुभव साझा किए कि कैसे तकनीक आज कला और डिजाइनिंग में अपनी भूमिका अदा कर रही है। इनमें न्यूजीलैंड के द वेयरहाउस ग्रुप की कंट्री मैनेजर अनिका पासी, बीएए की चेयरपर्सन क्रिस्टीन रेएबाइंग एजेंट्स एसोसिएशन की गवर्निंग बॉडी की सदस्य रोहिणी सूरी, इवाटोन कंसलटेंसी की डायरेक्टर प्रिया सचदेवा, इफ्जास मेले की वाइस प्रेसीडेंट नूपुर बत्रा, आर्च कॉलेज ऑफ डिजाइन एंड बिजनेस के उप विभागाध्यक्ष अनिल बोस, मेसर्स दिलीप इंडस्ट्रीज की मालिक अनुवा बैद और करन अहूजा शामिल थे। इस वेबिनार में ईपीसीएच के चेयरमैन रवि के. पासी, ईपीसीएच के वाइस चेयरमैन नावेद-उर-रहमान, इस मेले के प्रेसीडेंट विनीत भाटिया, और वाइस प्रेसीडेंट अंशल गोला ने भी शिरकत की।
 
ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार ने बताया कि ये पहला मौका है, जब वर्चुअल मेला आयोजित किया गया है। उन्होंने विश्वास जताया कि हर आयोजन के साथ ही इन वर्चुअल मेलों के स्तर में सुधार होता जाएगा, क्योंकि कम से कम आने वाले एक साल तक वर्चुअल ही न्यू नार्मल रहने वाला है।