ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
मंगल बाजार श्रद्धानन्द में नेत्र परीक्षण, चिकित्सा और निदान शिविर का आयोजन
November 25, 2019 • Snigdha Verma

बादली। स्वयंसेवी संस्था नेशन फर्स्ट फाउंडेशन का नेत्र रक्षक दल मंगल बाजार श्रद्धानन्द में पहुंचा। दल की नेत्र चिकित्सा गाड़ी के आने की खबर पहले ही गांव में पहुंच चुकी थी इसलिए वेन आने से पहले ही नेत्र रोगियों की भीड़ वेन पहुंचने के स्थल पर इकट्ठे हो गई। सैकड़ों लोगों ने इस चिकित्सा वेन में अपना नेत्र परीक्षण करवाया, जिन्हें दवाइयां और चश्मे मुफ्त वितरित किए गए।
पूर्व विधायक और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष देवेंद्र यादव द्वारा क्षेत्र को नेत्र रोगों से मुक्त करने के लिए आरम्भ की गई नेत्र सुरक्षा मुहिम के तहत सोमवार को  मंगल बाजार श्रद्धानन्द में नेत्र परीक्षण, चिकित्सा और निदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 550 से अधिक व्यक्तियों ने नेत्र जांच कराई। अनुभवी नेत्र चिकित्सकों ने सभी की जांच की। जिन रोगियों को दवा और चश्मे की आवश्यकता थी, उन्हें मौके पर ही आई ड्रॉप्स और चश्मे दिये गए। कुछ रोगी ऑपरेशन योग्य भी पाए गए जिनका ऑपरेशन देवेन्द्र यादव की टीम द्वारा उच्च स्तरीय नेत्र चिकित्सालय में कराया जाएगा।
देवेन्द्र यादव ने बताया कि उनके विधानसभा क्षेत्र समयपुर बादली में नेत्र रोगियों की संख्या में निरंतर वृद्धि होने की शिकायतें उन्हें मिल रही थीं। इसे देखते हुए  उन्होंने प्रत्येक क्षेत्रवासी की आँखों की जाँच करवाकर उपचार देने का संकल्प लिया। इसी संकल्प को पूरा करने और क्षेत्र को नेत्र रोगों से पूरी तरह से मुक्त करने के लिए आधुनिकतम संसाधनों से युक्त एक नेत्र चिकित्सा वेन तैयार करवाई गई है। इस वेन में अनुभवी और वरिष्ठ नेत्र चिकित्सकों की टीम क्षेत्रवासियों के नेत्रों की जांच करती है। विधानसभा क्षेत्र के हर वार्ड, गली और मोहल्ले में यह वेन जा रही है। क्षेत्रवासियों को नेत्र शिविर की सूचना उनके स्वयंसेवकों द्वारा घर-घर तक पहुंचा दी जाती है और जब वेन निर्धारित शिविर स्थल पर पहुंचती है तो नेत्र रोगियों की जांच की जाती है।
क्षेत्रवासी रामप्यारी देवी ने बताया कि देवेन्द्र यादव सदैव क्षेत्रवासियों के हित के लिए चिंतित रहकर कार्ययोजना  और उस पर कार्य करते रहते हैं। करीब आठ साल तक विधायक रहते हुए उनके द्वारा कराए गए कार्यों को क्षेत्रवासी याद करते हैं और वे पूरी तरह ठान चुके हैं कि इस बार विधानसभा में उनके प्रतिनिधि के तौर पर देवेन्द्र यादव को ही भेजना है।
शिविर में इलाज के लिए आई कोमल  ने कहा कि देवेन्द्र यादव क्षेत्र की स्वच्छता और क्षेत्रवासियों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहे हैं। क्षेत्र से गन्दगी का पहाड़ हटाने के लिए भी इन्होंने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में याचिका दायर की थी, जिसके परिणाम स्वरूप खत्ता हटाने के लिए पहला प्लांट लग चुका है। जल्द ही क्षेत्र पूरी तरह से खत्ता मुक्त हो जाएगा।
एक अन्य शिविरार्थी सूरजसिंह का कहना है कि देवेन्द्र यादव ने पूर्व में भी अनेक चिकित्सा शिविरों का आयोजन करवाया था, जिसका लाभ हज़ारों क्षेत्रवासियों को प्राप्त हुआ और यहां से बीमारी को दूर भगाने में मदद मिली। अब नेत्र विकार दूर करने के लिए नेत्र चिकित्सा शिविरों का आयोजन एक उल्लेखनीय कदम कहा जा सकता है।
नेत्र रोग से ग्रसित मरियम बानो ने कहा कि देवेन्द्र यादव क्षेत्र के प्रति सदैव गम्भीर रहे हैं, जिसका परिणाम है कि उन्होंने क्षेत्र के हर घर मे अपनी एक महत्वपूर्ण जगह बना ली है। क्षेत्रवासियों के हर सुख-दुःख में देवेन्द्र यादव साथ खड़े नजर आते हैं, इसी का परिणाम है कि वे एक लोकप्रिय जननायक के रूप में क्षेत्र में अपनी सुदृढ़ पहचान बना चुके हैं।