ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
ऑस्ट्रेलिया में भारत के लोगों के फंसे होने पर श्री तोमर ने जताई चिंता
May 6, 2020 • Snigdha Verma • Political


विदेश मंत्री व नागरिक उड्डयन मंत्री को पत्र भेजकर घर वापसी का किया अनुरोध
कोविड-19 महामारी के चलते 13 देशों से 16,000 भारतीयों को वापस लाएगी सरकार
नई दिल्ली/भोपाल। कोविड-19 महामारी के दौरान ऑस्ट्रेलिया में 
भारत के लोगों के फंसे होने पर चिंता व्यक्त करते हुए केंद्रीय कृषि एवं किसान 
कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विदेश 
मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय में अपने समकक्षों को पत्र लिखा है 
ताकि उन्हें घर वापस लाने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा सके।
          श्री तोमर को भोपाल निवासी श्री राजेश मलिक ने आज एक आवेदन 
भेजकर मदद की गुहार लगाई, जिस पर उन्होंने तत्काल विदेश मंत्री श्री एस. 
जयशंकर और नागरिक उड्डयन मंत्री श्री हरदीप पुरी को पत्र भेजकर इस संबंध 
में आवश्यक कार्यवाही करने का अनुरोध किया है। 
श्री राजेश मलिक का कहना है कि उनके पुत्र श्री वरुण मलिक ऑस्ट्रेलिया 
में फंसे हुए हैं, जहां वे कार्यवश गए हुए थे और अन्य कई लोग भी वहां से 
आना चाहते हैं। ऑस्ट्रेलिया में फंसे लोग कोरोना वायरस के चलते लंबे 
लॉकडाउन के कारण अपने घरों में वापस आना चाहते है। 
          उन्होंने श्री तोमर को लिखे पत्र में यह भी बताया कि उनके बेटे की 
पत्नी लॉकडाउन के कारण पुणे में फंसी हुई है और मौजूदा स्थिति के कारण 
उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।
          कोरोनो वायरस महामारी की शुरूआत के बाद से विदेशों में फंसे अपने 
नागरिकों को वापस लाने के लिए केंद्र सरकार सबसे बड़ी निकासी योजना शुरू 
कर रही है। भारतीय नौसेना और एयर इंडिया के साथ मिलकर 13 देशों से 
लगभग 16,000 भारतीयों को 7 मई से वापस लाना प्रारंभ किया जा रहा है।