ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
पीएसी बल की गौरवशाली परम्पराओं को आगे बढ़ाएं प्रशिक्षु आरक्षी : आलोक सिंह
July 30, 2020 • Snigdha Verma • Crime

 - पुलिस आयुक्त कार्यालय में पीएसी के प्रशिक्षु आरक्षियों का दीक्षांत समारोह व परेड

- पुलिस आयुक्त ने ली परेड की सलामी, दिलाई संविधान की शपथ, श्रेष्ठ प्रशिक्षु आरक्षी पुरस्कृत

नोएडा। सेक्टर-108 स्थित पुलिस आयुक्त कार्यालय में गुरुवार को आयोजित समारोह में पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने पीएसी के प्रशिक्षणाधीन रिक्रूट आरक्षी के दीक्षान्त समारोह परेड की सलामी ली। उन्होंने आरक्षियों को भारतीय संविधान की शपथ दिलाई और सर्वश्रेष्ठ आरक्षियों को पुरस्कृत किया। समारोह में पुलिस आयुक्त आलोक ङ्क्षसह ने कहा कि विषम परिस्थितियों के बावजूद सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने के लिए आरक्षी बधाई के पात्र हैं।

उन्होंने कहा कि दिसम्बर में सामान्य प्रशिक्षण की तरह ट्रेनिंग शुरू हुई और इसी समय कोविड-19 की भी शुरुआत हुई। माह-2020 तक इस महामारी ने पूरी दुनिया को जकड़ लिया। प्रशिक्षु आरक्षियों के आत्मानुशासन तथा कर्तव्य के प्रति प्रतिबद्धता तथा सोशल डिस्टेंसिंग, मॉस्क व एसओपी के अनुपालन के कारण ही सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा हो सका और कोई भी प्रशिक्षु कोरोना से संक्रमित नहीं हुआ । उन्होंने कहा कि इस दीक्षांत समारोह के पश्चात जिस पीएसी बल का हिस्सा बनने जा रहे हैं, उसे सर्वोत्तम बल कहा जाता है। चाहे कानून व्यवस्था की ड्यूटी हो, साम्प्रदायिक दंगों का नियन्त्रण हो, महत्वपूर्ण संस्थानों एवं स्मारकों की सुरक्षा हो, प्राकृतिक आपदाओं में जनता के जानमाल की सुरक्षा हो, फिर दस्यु उन्मूलन हो या फिर आतंकवादियों का सामना करना हो, अपनी कार्य कुशलता, व्यावसायिक दक्षता, जांबाजी, शौर्य और जनसेवा की भावना से पीएसी के जवानों ने सदैव ही जनता, समाज और अपने अधिकारियों पर स्वयं का विश्वास कायम रखा है। जवानों ने हर ड्यूटी को एक परीक्षा, एक चुनौती मानकर सदैव अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की है।

आलोक सिंह ने कहा कि हमारे देश राज्य या समाज की आन्तरिक सुरक्षा को किसी भी प्रकार का खतरा हो, सभागार मे मौजूद पीएसी का हर रिक्रूट नौजवान देश समाज और राज्य के लिये नापाक इरादे रखने वाले हर नक्सलवादी, हर आतंकवादी हर साम्प्रदायिक उन्मादी और कानून व्यवस्था को चुनौती देने वाले हर समाज विरोधी तत्व को मुंहतोड जवाब देने के लिये दृढ़ संकल्पित होकर खड़ा है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि अपनी कर्तव्यनिष्ठा, साहस, कठिन परिश्रम और पराक्रम से प्रशिक्षु आरक्षी पीएसी के स्वर्णिम इतिहास में एक और नया अध्याय जोडें़गे। इससे पूर्व समारोह के प्रारम्भ में पुलिस उपायुक्त लाइन डॉ. मीनाक्षी कात्यायन ने बताया कि 197 प्रशिक्षु आरक्षी दीक्षांत समारोह व परेड में शामिल हैं। 07 माह के कठिन प्रशिक्षण के पश्चात उन्हें पीएसी बल में सम्मिलित किया जा रहा है।

इस अवसर पर अभिषेक सिसोदिया को सर्वश्रेष्ठ आरक्षी सहित कुल 13 प्रशिक्षु आरक्षियों, 07 आईटीआई, 03 पीटीआई, 03 उपनिरीक्षक अध्यापक को भी पुरस्कृत किया गया। आरटीसी प्रभारी राजीव यादव को भी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। दीक्षांत समारोह परेड में अपर पुलिस आयुक्त अखिलेश कुमार, अपर पुलिस आयुक्त श्रीपर्णा गांगुली सहित पुलिस उपायुक्त, अपर पुलिस उपायुक्त आदि उपस्थित थे।