ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
स्टोर पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मास्क एवं सैनिटाइजर मुफ्त
March 30, 2020 • Snigdha Verma • Social

नोएडा। कोरोना वायरस अब लगभग पूरे भारत में पैर पसार चुका है। इस जानलेवा वायरस का संक्रमण रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित हो चुका है।

लॉकडाउन के कारण लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है l  ऐसे में लोगों के पास खाने की सामग्री न पहुंच पाना बहुत बड़ी समस्या है। जहां लॉकडाउन के चलते जहाँ प्रदेश की पुलिस, प्रशासन एवं अथॉरिटी को लोगों के घर खाद्य सामग्री पहुंचाने की जिम्मेदारी दी है, तो वही कुछ लोग अपना सामाजिक दायित्व समझ कर जरूरतमंदों के घर पर खाने का सामान पहुंचा रहे हैं।नोएडा में रहने वाली एकता गुप्ता का नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा में किराना स्टोर संचालित करती हैं । जहां एक तरफ यह लोग गरीबों को मुफ्त में खाना सैनिटाइजर व मास्क प्रदान कर रहे हैं, तो वही सोसाइटी में रहने वाले लोगों को उचित दाम पर खाद्य सामग्री पहुंचा रहे हैं। एकता गुप्ता ने बताया कि नोएडा के सेक्टर 78, सेक्टर 121 व ग्रेटर नोएडा वेस्ट की महागुन सोसाइटी में उनके किराना स्टोर हैं।

स्टोर पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मास्क एवं सैनिटाइजर मुफ्त में दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब तक उन्होंने 15,000 मास्क एवं 100 लीटर सैनिटाइजर भी लोगों को मुफ्त में दिया है। एकता गुप्ता ने बताया कि जहां से भी मदद की गुहार आ रही है, हम हर संभव लोगों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि घरों तक सामान की डिलीवरी करने के अलावा पुलिस थानों, गरीबों , गार्डों व मजदूरों को भी खाने के पैकेट मुफ्त में पहुंचा रहे हैं ओर जिनके पास पैसे नही हैं उन्हें भी आटा, दाल व दूध के पैकेट निशुल्क उपलब्ध करा रहे हैं । वहीं नोएडा प्राधिकरण या जिला प्रशासन से भी अगर किसी प्रकार की मदद मांगी जाती है, तो उनको भी हम मदद पहुंचा रहे हैं। तीनों जगह पर उनकी 20-20 लोगों की टीम काम में लगी हुई है। उन्होंने बताया कोरोना के बीच सोशल डिस्टेंसिंग पर भी पूरा ध्यान दे रहे हैं ताकि लोगों में संक्रमित होने का खतरा पैदा ना हो। दुकान के सामने घेरे बनाकर लोगों को दूर दूर खड़ा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर किसी व्यक्ति के पास खाद्य सामग्री की कमी हैं तो वे निश्चिंत उनके किसी भी स्टोर पर आकर सहायता ले सकते हैं।