ALL Crime Ministries Science Entertainment Social Political Health Environment Sport Financial
टिड्डी दलों पर नियंत्रण के लिए कार्रवाई की केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने की समीक्षा,स्प्रे के लिए हेलीकाप्टरों की सेवाएं लेने की तैयारी, राज्यों को एडवायजरी भी की जारी
May 28, 2020 • Snigdha Verma • Ministries

ब्रिटेन से 15 दिनों में आ जाएंगे अतिरिक्त स्प्रेयर,45 और स्प्रेयर भी शीघ्र आएंगे

लंबे पेड़ों, दुर्गम क्षेत्रों में प्रभावी नियंत्रण हेतु कीटनाशकों के छिड़काव के लिए ड्रोन का उपयोग शीघ्र

क्षेत्रवार 11 नियंत्रण कक्ष स्थापित, विशेष दलों के साथ अतिरिक्त कर्मचारी तैनात

कृषि मंत्रालय ने राज्यों को वित्तीय सहायता भी दी, समस्या से मिलकर निपट रहे-श्री तोमर

नईदिल्ली कुछ राज्यों में सक्रिय टिड्डी दलों पर नियंत्रण के लिए कृषिएवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा की जा रही कार्रवाई की आज विभागीय मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर ने पुनः समीक्षाकी। श्री तोमर ने कहा कि सरकार इस समस्या को पूरी गंभीरता से ले रही है। राज्यों के साथ मिलकर सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। राज्यों को एडवायजरी जारी की जा चुकी है। ब्रिटेन से अतिरिक्तस्प्रेयर15 दिनों में आना शुरू हो जाएंगे। इनका आर्डर पहले ही दिया जा चुका है है। 45 और स्प्रेयर भी अगले एक-डेढ़ महीने में खरीद लिए जाएंगे। लंबेपेड़ों वदुर्गमक्षेत्रोंमेंप्रभावीनियंत्रणहेतुकीटनाशकोंकेछिड़कावकेलिएड्रोन का उपयोगशीघ्र किया जाएगा, वहीं स्प्रे के लिए हेलीकाप्टरों की सेवाएं लेने की भी तैयारी है। क्षेत्रवार 11 नियंत्रणकक्षस्थापित कर विशेष दलों की तैनाती करते हुए उनके साथ अतिरिक्त कर्मचारी भी लगाए गए हैं। सभी स्थानों पर किसानों की मदद से नियंत्रण दल तत्परता से कार्रवाई में जुटे हुए हैं।

गुरूवार को कृषि मंत्रालय में कैबीनेट मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर ने दोनों राज्य मंत्रियों तथा सचिव के साथ बैठक कर स्थिति की विस्तृत समीक्षा की। श्री तोमर ने बताया कि जरूरत पड़ने पर संबंधित राज्यों को संसाधनों के अलावा वित्तीय सहायता भी दी जा रही है। सभी जागरूक किसानों तथा राज्य शासन एवं जिला प्रशासन के साथमिलकर इस समस्या से निपटा जा रहा है।अब तक मध्यप्रदेश के मंदसौर, नीमच, उज्जैन, रतलाम, देवास,आगरमालवा, छतरपुर, सतना व ग्वालियर, राजस्थान के जैसलमेर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, बाड़मेर, नागौर, अजमेर, पाली, बीकानेर, भीलवाडा, सिरोही, जालोर, उदयपुर, प्रतापगढ़, चित्तौडगढ़, दौसा, चुरू, सीकर, झालावाड़, जयपुर, करौली एवं हनुमानगढ़, गुजरात के बनासकांठा और कच्छ, उत्तरप्रदेश  में झाँसी और पंजाब के फाजिल्का जिले में 334 स्थानों पर 50,468 हेक्टेयर क्षेत्र में हॉपर और गुलाबी झुंडों को नियंत्रित किया गया है। वर्तमान मेंराजस्थान केदौसा, श्रीगंगानगर,जोधपुर, बीकानेर, म.प्र. केमुरैना और उ.प्र. के झाँसी में अपरिपक्व गुलाबी टिड्डियों के झुंड सक्रिय हैं।टिड्डी नियंत्रण कार्यालयों में 21 माइक्रोनैर और 26 उलवमास्ट (47 स्प्रे उपकरण) हैं, जिनका उपयोग टिड्डी नियंत्रण के लिए किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त 60 स्प्रेयर के लिए आपूर्ति आदेश दिया गया है, जिनकी आपूर्ति यूके स्थित कंपनी द्वारा की जाएगी। जून में दो बार में 35और जुलाई में 25 की आपूर्ति हो जाएगी।लंबे पेड़ों व दुर्गम क्षेत्रों में प्रभावी नियंत्रण हेतुड्रोन सेकीटनाशकों के छिड़काव हेतु ई-टेंडर आमंत्रित किया गया है, जल्द हीनागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा अनुमोदित ड्रोन का उपयोग किया जाएगा।इसी प्रकार 55 वाहनों की खरीद के आदेश दे दिए गएहै। स्प्रे के लिए हेलीकाप्टरों की सेवाएं लेने की भी तैयारी है।